Navgrah Vatika

In Hindu mythology, all the God and Goddesses are associated with some trees, shrubs and creepers. Similarly, all nine planets are believed to control the destiny of a person are associated with trees, bushes and grass.  Navgrah Vatika is a garden of nine trees, bushes and grasses which represents planets. These trees are planted in a particular direction to get the benefits of nine planets or grahs hence it is called Navgrah Vatika.

श्री कृष्ण – जांबवती

श्री कृष्ण – जांबवती बहुत पहले द्वारका पुरी में भोजवंशी राजा सत्राजित रहता था। सूर्य की भक्ति-आराधना के बल पर उसने स्वमंतक नाम की अत्यंत चमकदार मणि प्राप्त की। मणि की क्रांति से राजा स्वयं सूर्य जैसा प्रभा-मंडित हो जाता था। इस भ्रम में जब यादवों ने श्रीकृष्ण से भगवान सूर्य के आगमन की बात […]

महालया

महालया महालया त्यौहार के शुभ अवसर पर सभी लोग माँ दुर्गा की पूजा करते हैं। सभी लोग इस दिन अपने पूर्वजों की पूजा करते हैं और उन्हें खाना, नए कपडे और मिठाईयां अर्पण करते हैं। यह त्यौहार दुर्गा पूजा का एक अभिन्न अंग है। माता दुर्गा को अपार शक्ति की देवी माना जाता है। यह […]

Amazing stories about Lord Ganesha

Amazing stories of Lord Ganesha On the eve of Ganesha Chaturthi, here are some of the interesting stories about Lord Ganesha. How he became Ekdant Brahmavart Puran states that  when Parshuram went to Kailash Mountain to meet Shiva, he was meditating. Lord Ganesha did not allow Parshuram to meet Shiva. Parshuram got angry and attacked […]

जन्माष्टमी कहानी

जन्माष्टमी श्री कृष्ण जन्म की कहानी का भी गूढ़ अर्थ है। इस कहानी में देवकी शरीर की प्रतीक हैं और वासुदेव जीवन शक्ति अर्थात प्राण के। जब शरीर प्राण धारण करता है, तो आनंद अर्थात श्री कृष्ण का जन्म होता है। लेकिन अहंकार (कंस) आनंद को खत्म करने का प्रयास करता है। यहाँ देवकी का […]